डीसीआरयूएसटी कराएगी पोलिटैक्निक के विद्य ार्थियों को सभी तकनीकी विभागों में वेल्यू एड िड कोर्स : कुलपति प्रो. अनायत

सोनीपत, 3 जनवरी : हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल प्रदेश के युवा वर्ग को रोजगार एवं स्वरोजगार बनाने की दिशा में कौशल विकास को विशेष रूप से बढावा दे रहे हैं। दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, मुरथल ने भी मुख्यमंत्री की इस मुहिम आहुति डालने की शुरूआत कर दी है। जिसके तहत पोलिटैक्निक के विद्यार्थियों को विभिन्न प्रकार के कोर्स करवाएगा।पोलिटैक्निकल के विद्यार्थियों ने डीसीआरयूएसटी के इस कदम का खुले दिल से स्वागत किया है।
विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. राजेंद्रकुमार अनायत ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने युवाओं को सक्षम एवं कौशल बनाने का संकल्प लिया है। इसके तहत युवाओं को रोजगार एवं स्वरोजगार प्रदान करने के उद्देश्य से विश्वविद्यालय ने विद्यार्थियों को कौशल प्रशिक्षण देने की ओर कदम बढाए हैं। विश्वविद्यालय की योजना है कि वर्ष 2018 में मई,जून व जुलाई माह में पोलिटैक्निक के विद्यार्थियों को वेल्यू एडिड कोर्स करवाएगी। वेल्यू एडिड कोर्स में पोलिटैक्निक के विद्यार्थी विश्वविद्यालय में उपलब्ध संसाधनों का सदुपयोग कर पाएंगे। विश्वविद्यालय में उपलब्ध नवीनतम उपकरणों पर पोलिटैक्निक के विद्यार्थियों को कार्य करने का अवसर मिलेगा। कुलपति प्रो. अनातय ने कहा कि विश्वविद्यालय की योजना है कि वेल्यू एडिड कोर्स सभी तकनीकी विभागों में करवाए जाएं।
कुलपति प्रो. अनायत ने कहा कि वर्तमान समय में विश्वविद्यालय द्वारा एक सप्ताह वेल्यू एडिड कोर्स करवाया जा रहा है। सिविल इंजीनियरिंग विभाग में नारनौल व झज्जर तथा मैकेनिकल इंजीनियरिंग में सोनीपत के पोलिटैक्निक के विद्यार्थी वेल्यू एडिड कोर्स करवाये जा रहे हैं। विश्वविद्यालय में उपलब्ध नवीनतम उपकरणों पर पोलिटैक्निक के विद्यार्थियों को कार्य करने का अवसर मिल रहा है। उन्होंने कहा कि वेल्यू एडिड कोर्स के विद्यार्थियों को मेक इन इंडिया व स्टार्टप की तरफ कदम बढाने में सहायक होगा। 40 विद्यार्थियों को तीन भागों में बांट कर कोर्स करवाया जा रहा है। कैड के विद्यार्थियों को कंप्यूटर मशीन के माध्यम से डिजाइन व ड्राफ्ट करना सिखाया जा रहा है।
कुलपति प्रो. अनायत ने विद्यार्थियों से बातचीत करते हुए पूछा कि कैसे लग रहा है। पोलिटैक्निक के विद्यार्थी अमित,तान्या, शुभम, सौरव व आशीष ने बताया कि विश्वविद्यालय में नवीनतम एवं अत्याधुनिक उपकरण है। उन्हें उच्च दर्जे की मशीनों पर कार्य करने का अवसर मिल रहा है।
मैकेनिकल इंजीनियरिंग की वर्मेंकशॉप में पोलिटैक्निक के विद्यार्थियों को सिखाया जा रहा है कि लोहे के पार्ट को आपस में कैसे जोड़ा जाए,टेप करना, ड्रीलिंग, चुड़ी निकलवाना व ग्राइंडिंग करना सिखाया जा रहा है। कुलपति के साथ प्रो.आर.एस.भारद्वाज, मैकेनिकल के विभागाध्यक्ष प्रो.आर.के.गर्ग प्रो.विजय शर्मा, प्रो.अशोक शर्मा,प्रो.डी. सिंघल, डा.हेमेंद्र अग्रवाल आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *